Japan के स्कूल में Robot रोकेगा बच्चों की बदमाशियां

Japan दिन पर दिन इतना advance होती जा रही है, जिसका सबूत आप देख ही चुके होंगे| तो यहां पर एक और न्यूज़ निकल कर आता है की जापान में स्कूली बच्चों के बीच आपसी झगड़ा-झंझट रोकने के लिए क्लास में रोबोट लगाए जाएंगे| यह रोबोट क्लास में बच्चों की बदमाशी को रोकेंगे|
Japan के स्कूल में Robot रोकेगा बच्चों की बदमाशियां
Japan's Robot
बच्चों के बीच होने वाली बहस, मारपीट जैसे संकेतों को रोबोट तुरंत पहचान लेगा और इसके पहले की बात आगे बढ़े उसे वहीं रोक देगा| तो इस रोबोट को बनाए जाने का मुख्य सिद्धांत यही है| इससे शिक्षक गण की काफी मदद होगी और उन्हें काफी राहत मिलेगी क्योंकि इन सभी काम को रोबोट खुद सुलझा लेगा जिससे कि शिक्षक पढ़ाई पर ध्यान दे पाएंगे|

 जापान के पश्चिमी प्रांत ओत्सु में इसी महीने से इन रोबोट की तैनाती शुरू कर दी जाएगी| जापान में पिछले साल स्कूली बच्चों के बीच झगड़े के चार लाख से ज्यादा मामले दर्ज किए गए थे| और इन्हीं बातों का ध्यान रखते हुए इन रोबोट को तैनात किया जाएगा| 10 बच्चों ने इसे शिकायत के कारण खुद खुशी तक कर ली थी, तो आप सोच सकते हैं कि यहां पर झगरा कितना ज्यादा होता होगा|

एक बार की बात है, जापान के ओत्सु में 2011 में 13 साल के एक बच्चे ने आत्महत्या कर ली थी| ओत्सु शिक्षा बोर्ड ने इस आत्महत्या को पारिवारिक वजह और तनाव बताया था लेकिन 2 साल तक चली जांच के बाद पता चला कि बच्चे ने स्कूली झगड़े के डर से ही आत्महत्या की थी| पुलिस के द्वारा जांच किए जाने पर पता चला कि बच्चे को आत्महत्या करने के लिए उकसाया गया था|

 उस बच्चे को दूसरे शरारती बच्चों ने मरी हुई मछली खाने के लिए उकसाया था| इतना ही नहीं उन मासूम बच्चों का गला भी घटा गया था और और उनकी कॉपी किताब तक फाड़ दी गई थी| इस मामले में ओत्सु प्रांत के शिक्षा बोर्ड की काफी बहस हुई| मामले की गंभीरता को देखते हुए सरकार ने 2013 में स्कूल के बच्चों के बीच बढ़ते झगड़े को रोकने के लिए एक कानून बनाया|

सभी विद्यालय को यह कानून लागू करने का आदेश दिया गया इसके बाद से ही जापान के सभी स्कूल में या कानून अनिवार्य कर दिया गया क्यों स्कूल में होने वाले किसी भी झगड़े को जल्द से जल्द या फिर 24 घंटे के भीतर रिपोर्ट की जाए, ताकि आत्महत्या जैसी घटना से बचा जा सके| रोबोट की तैनाती के पीछे एक वजह यह भी है कि कभी-कभी टीचर कम अनुभवी होते हैं|

 वह बच्चों के ऊन इरादों को पहले ही नहीं समझ पाते हैं जो आगे चलकर बड़ी घटना का संकेत देता है| लेकिन इन सभी बातों को रोबोट जल्द से जल्द रिकॉर्ड कर लेगा और इन सभी संकेतों या चिन्हों को पहले ही भाग लेगा और झगड़ा बढ़ने से पहले ही उसे समाप्त कर देगा| रोबोट के दिमाग में 9000 मामलों को रिकॉर्ड किया गया है जिससे कि वह किसी भी तरह का झगड़ा मारपीट या फिर आत्महत्या को झट से पहचान लेगा और उसे रोक लेगा|